Monday, November 16, 2020

नशा छुड़ाने का उपाय || नशा कैसे छोड़े ?

 दोस्तो , एक बार फिर से स्वागत है आपका Hindi Me Helps Blog में नशा कैसे छोड़े आज के समय में 50 परसेंट से ज्यादा क्राइम नशे की वजह से हो रहे हैं। फिर चाहे वह आत्महत्या हो या फिर किसी इंसान द्वारा दूसरे इंसान की हत्या । नशा कहीं ना कहीं इसमें शामिल होता ही है यहां तक की रोड एक्सीडेंट का भी सबसे बड़ा कारण लोगों की लापरवाही है और लापरवाही जैसी चीज इंसान नशे में ही करता है। 

नशा क्या है ? और नशा कैसे छोड़े 

ऐसे में दोस्तों अगर आप किसी भी तरह का नशा करते हैं फिर चाहे वह सिगरेट हो तंबाकू हो या अल्कोहल का या फिर कोई ऐसी चीज जिससे आप अपने से दूर होते हुए देखते ही अंदर से काप उठते है। क्योंकि हर किसी की जिंदगी में इस तरह की कोई ना कोई चीज तो होती है और वह भी नशे में गिनी जाती है इसलिए आज मैंने आपका दोस्तो  तो प्रदीप वर्मा आपको हर तरह के नशे से छुटकारा पाने का एक ऐसा अचूक उपाय बताऊंगा जो आपकी पूरी जिंदगी बदल देगा।

Nsha kaise chode

इस पोस्ट को अंत तक जरूर देखना चलिए  पोस्ट को शुरू करते हैं ।

नशा छुड़ाने का उपाय

दोस्तों नशे का सबसे बड़ा कारण केमिकल से होता है जी हां हमारे दिमाग में तरह-तरह के केमिकल से बनते हैं और उसी हिसाब से हमारी बॉडी काम करती है ऐसे में आपके दिमाग में एंडडोरफिन,ऑक्सीटॉसिन सेरोटोनिन और इन सब का राजा डोपामिन मौजूद होता है।

जहां अगर हम यह कहे कि दुनिया के सबसे पावरफुल केमिकल फैक्ट्री और कहीं नहीं बल्कि हम इंसानों के दिमाग में मौजूद होती है।  तो यह कही से गलत नही होगा लेकिन जब आप किसी से गले मिलते हो या किसी से हाथ मिलाते हो या फिर किसी दूसरे को टच करते हो तो आपकी बॉडी से ऑक्सीटॉसिन रिलीज होता है जी हां दोस्तों जब आप फ्रेंडशिप वगैरह में किसी का हाथ पकड़ते हो तब यही ऑक्सीटॉसिन नाम का केमिकल रिलीज होता है।

यानी कि आपका किसी दूसरे इंसान के प्रति बॉन्डिंग दर्शाता है इसी वजह से से बॉन्डिंग केमिकल भी बोलते हैं अब दोस्तों आप उस पल को याद कीजिए जब किसी ने आपकी तारीफ किय थी या फिर आपके बारे में सबके सामने अच्छी बातें बोली थी ।  यह बात सुनकर आप अंदर ही अंदर खुश हो जाते हैं और इस तरह की फीलिंग से जो केमिकल रिलीज होता है उसे सेरोटोनिन कहते हैं।

नशा रोकने के उपाय

और तो और जब आप एक्सरसाइज करते हो या फिर डांस वगैरह करते हो या कोई फिजिकल एक्टिविटी करते हो तो आपकी बॉडी को सेटिस्फेक्शन महसूस होता है।  और उसे फिजिकल वर्क से होने वाले सेटिस्फेक्शन के समय आपकी बॉडी से एंडडोर्फिन के नाम से केमिकल रिलीज होता है  । 

अगर हम इन सभी केमिकल के ऊपर हुकूमत करने वाले केमिकल की बात करें तो वह है डोपामिन जिसे लोगे को हार्मोन की तरह जानते है । 

ऐसे में जब कभी भी कोई इंसान नशा करता है तो उसकी बॉडी से यही केमिकल रिलीज होता है पर क्या आप यह जानते हैं कि जब कोई प्यार में होता है तो अपने पार्टनर से लव करता है और दिमाग में मौजूद सभी तरह के केमिकल एक साथ सक्रिय हो जाते हैं।

ओर  दिमाग को होने वाली खुशी का सबसे ऊंचा कर देते हैं जो कि एक तरह से अच्छा भी है लेकिन सेम यही चीज जब इंसान को किसी नशे के द्वारा प्राप्त होती है । जैसे कि अगर वह कोई अल्कोहल या फिर सिगरेट वगैरा का सेवन करता है तो भी उसके शरीर में इसी तरह के केमिकल रिलीज होते हैं।

जिससे उसे  खुशी महसूस होती है और थोड़े पल की खुशी के लिए वह अपनी बॉडी को खराब करने वाली चीजें कंज्यूम करने में लग जाता है 

नशा करने वाले की पहचान

यानी कि अब आप समझ गए कि जब कोई चीज आपको खुशी देती है तो आपकी बॉडी से कोई ना कोई केमिकल रिलीज होता है और इंसान वह चीज बार बार करता है और उसे उस केमिकल के रिलीज होने वाली खुशी की आदत पड़ जाती है और यही आदत धीरे-धीरे नशे में तब्दील हो जाती है।  इस वजह से लोग जिस चीज का नशा करते हैं वह अगर उन्हें ना मिले तो उन्हें बेचैनी होने लगती है।

क्योंकि यह सारी चीजें केमिकल पर डिपेंड करती है जो आपकी बॉडी को सेटिस्फाई करती है  यह सभी चीजे जितने सुनने में जितनी ज्यादा खराब लग रही है । इंसान को खुश रहने के लिए किसी बाहरी चीज की जरूरत पड़ती है क्योंकि किसी भी सक्सेसफुल और महान इंसान से पूछेंगे तो इंसान की सबसे बड़ी खुशी किस चीज में तो उसका उत्तर साफ होगा कि इंसान की खुशी उसके अंदर ही है पर हम आपको इस तरह का भाषण बिल्कुल भी नहीं देने वाले क्योंकि हमें पता है कि इस तरह की गहराई तक पहुंचने के लिए सबसे पहले आपको अपने अंदर की सभी बुराइयों को मिटाना होगा और जब बात नशे की आती है फिर चाहे वह किसी भी चीज का नशा क्यों ना हो उसे करने से पहले इंसान को एक बार जरूर सोच लेना चाहिए कि यह आपको कहां पर लेकर जाएगा।

और अगर आप का नशा आप को परमानेंट हैप्पीनेस की तरफ लेकर जाता है तब तो ठीक है लेकिन अगर आपका नशा  दो-चार 10 मिनट की खुशी देता है तो यह समझ लीजिए कि आपका नशा तो गलत है और उसे गलत नशे में अल्कोहल सिगरेट पर लेकर हर वो चीज आती है जिसका इस्तेमाल करने से थोड़ी देर तक तो आप खुश रहे थे।

नशा से मुक्ति कैसे पाएं 

लेकिन वह चीज आपको परमानेंट हैप्पीनेस नहीं दे पाती और परमानेंट हैप्पीनेस पाने के लिए आपको सबसे पहले इन सभी तरह के नेताओं से मुक्ति पानी होगी अपनी जिंदगी में पैसा प्यार और सफलता का नशा करना होगा क्योंकि यह से नशे है जो आपको प्रॉमिनेंट हैप्पीनेस की ओर ले जाएंगे । इस लिए सबसे जरूरी बात जो आपको समझनी  है वह यह है कि आपकी बॉडी सिर्फ और सिर्फ केमिकल्स के जरिए आप को कंट्रोल करने की कोशिश करती है।

नशा छुड़ाने की होम्योपैथिक दवा

ऐसे में आपकी बॉडी के अंदर मौजूद केमिकल आपको कंट्रोल करें उससे पहले आप उन्हें कंट्रोल कर लीजिए और अपने आप को अच्छी चीजों की आदतों में डाल दीजिए उदाहरण के तौर पर अगर आप दिन में 4 सिगरेट पीते हैं तो आज से ही अपने दो सिगरेट कम कर दो।

और जब भी आपको सिगरेट की लत लगे तो उसकी जगह एक्सरसाइज करना शुरू कर दो हालांकि एक्सरसाइज से आपको सिगरेट जितनी सेटिस्फेक्शन तो नहीं मिल पाएगी लेकिन यकीन मानिए या आपको 4 से 2 और 2 से एक सिगरेट पिलाने में बहुत ज्यादा मदद करें।

धीरे-धीरे आपको सिगरेट की जगह एक्सरसाइज की आदत हो जाएगी जो आप को नुकसान पहुंचाने की बजाय उल्टा आपकी बॉडी को हमेशा हमेशा के लिए फीट रखेगी ।  और यही चीज आपको अपने बाकी नसों के साथ करनी है क्योंकि अगर आप लोगों ने यह चीज कर ली तो यकीन मानिए आपकी पूरी जिंदगी बदल जाएगी।

बाकी आपका इस पर क्या क्या कहना  है कमेंट करके बताइए ना और ऐसे इंटरेस्टिंग पोस्ट को लगातार देखने के लिए हमारे ब्लॉग हिंदी में हेल्प्स को लाइक शेयर सब्सक्राइब कर देना और हां हम फिर मिलेंगे नई पोस्ट में जय हिंद जय भारत

No comments:
Write comment