Friday, April 23, 2021

कोरोना वायरस पर निबंध 10 लाइन ( Essay on corona virus )

By:   Last Updated: in: ,

हेल्लो  दोस्तों नमस्कार , आज आपको सिखाने जा रहा हूँ कोरोना वायरस के बारे में 10 लाइन निबंध 

koronavirus par nibandh

कोरोना वायरस पर निबंध 10 लाइन ( Essay on corona virus ) 

  1. कोरोना वायरस एक संक्रमित बीमारी हैं ।
  2. कोरोना वायरस को कोविड- 19 नाम से भी जाना जाता हैं ।
  3. इस वायरस का संक्रमण सबसे पहले चीन के वुहान में दिसम्बर 2019 को हुआ था ।
  4. विश्व स्वास्थ्य संगठन (who ) ने इस महामारी नाम घोषित किया था।
  5. इस वायरस का संक्रमण होने होने के बाद व्यक्ति को बुखार , सास लेने में तकलीफ , गले मे खराशी जैसी समस्याएं उत्पन्न होती है।
  6. कोरोना के खिलाफ देश के स्वास्थ्य कर्मी ,पुलिस, कोरोना योद्धा स्वयं की  जोखिम में डालकर देश की सेवा कर रहे हैं।
  7. कोरोना के बचने के लिए मुँह पर मास्क लगाना , सामाजिक दूरी बनाकर रखना , हाथों को बार - बार अच्ची तरह साबुन से धोना  , कोरोना का टीका लेना आदि उपयोग का पालन करना चाहिए । 
  8. यह वायरस अलग - अलग लोगों पर उनकी प्रतिरोध क्षमता के अनुसार अलग - अलग तरीके से प्रभाव डालता हैं ।
  9. कोरोना का संक्रमण पूरी दुनिया मे फेल चुका है । 
  10. हमारी जिम्मेदारी है कि , हैम सरकार दोबारा सूचित कोरोना नियम का शक्ति से पालन करें और देश की कोरोना  से बचाएं । 

कोरोना वायरस पर निबंध 2021

कोरोनावायरस (covid- 19) पर 10 लाइन    

पूरे विश्वभर में फैला हुआ कोरोना वायरस ( कोविड 19 ) एक संक्रमित बीमारी है । कोरोनावायरस का संक्रमण सबसे पहले दिसंबर 2019 में चीन के वुहान शहर में हुआ था । यह संक्रमण एक  संक्रमित व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में जल्द फैल जाता है । 

                                                     विशव  स्वास्थ्य संगठन ( who) ने कोरोना वायरस को महामारी  नाम से घोषित कर दिया है । इस वायरस का संक्रमित होने के बाद व्यक्ति को  गुखम , सांस लेने में तकलीफ , गले मे खराशी जैसी समस्या उत्पन्न होती है। यह वायरस अलग - अलग लोगों पर उनकी रोगप्रतिरोधक क्षमता से अलग-अलग तरीके से प्रभाव डालता है। इसके गंभीर मामले मैं बहुत ज्यादा परेशानी , किडनी फेल होना और मौत भी हो सकती है । 

                                      कोरोना वायरस से बचने के लिए हमें मुँह पर मास्क लगाना , सामाजिक दूरी बनाकर रखना , हाथों को बार - बार अच्छे धोना , अपने तबीयत पर ध्यान देना , कोरोना का टीका करण लगाना , 

कोरोना संक्रमण के कारण पूरा  विश्व मानव थम सा गया है।  इस समय हर देश नागरिकों की अपना आत्म विश्वास बढ़ाना चाहिए । क्योंकि जिंदगी में मुसीबतो से न घबराकर उनका सामना करने वालों की बाजीगर कहते हैं। कोरोना के खिलाफ देश के  स्वास्थ्यकर्मी , पुलिस , कोरोना योद्धा , हमारी सरकार आदि स्वयं को जोखिम में डालकर दिन राह मानवता की सेवा कर रहीं है । हमें उसका सम्मान करना चाहिए । 

                                                   हमारे इम्तिहान की गाड़ी है इसमे हमे जीत हासिल करनी हैं । इस समय हम सभी हरिवंश की कविता की कुछ  पंक्तियां सदैव ध्यान में रखें -  

असफलता एक चुनौती है ,स्वीकार कर लो ।क्या कमी रह गई देखो और सुधार करो । 

मुझे उम्मीद है , इस महामारी के युद्ध में हम जरूर जीतेंगे

धन्यवाद , दोस्तों अगर हमारा पोस्ट आपको पसंद आता है तो आपने दोस्तो के साथ शेयर करे ।

No comments:
Write comment